Monday, May 26, 2008

खुदकुशी

जिन्दगी के खेल में
शतरंज की बिसात पर
यूँ भी
किसी को मात
किसी को शाह

फिर
क्या सोच कर
की
तुमने
खुदकुशी.

1 comment:

pramod kumar kush 'tanha' said...

किसी को मात
किसी को शह
bahut sankshep mein sab kuchh kah diya aapne...badhayee
- p k kush ' tanha'